IMG-LOGO
Home Reviews मारुति सुजुकी एक्सएल6: रिव्यू
REVIEW

मारुति सुजुकी एक्सएल6: रिव्यू

By Rohit Yadav - 06-09-2020 08:51 AM

मारुति सुजुकी अर्टिगा एमपीवी सेगमेंट में सबसे पॉपुलर कारों में से एक है। लेकिन सेगमेंट लीडर टोयोटा इनोवा की तुलना में इसमें प्रीमियमनेस की कमी महसूस होती थी। जिसे दूर करते हुए मारुति ने पिछले साल एक्सएल6 को लॉन्च किया था। हाल ही में, इसे बीएस6 नॉर्म्स पर भी अपडेट कर दिया गया है।

मारुति एक्सएल6, अर्टिगा का ही प्रीमियम वर्ज़न है। इसमें अर्टिगा से ज्यादा फीचर्स, बेहतर फ्रंट डिज़ाइन और कॉस्मेटिक एनहांसमेंट मिलते हैं। हालांकि, अर्टिगा से विपरीत इसमें अपने नाम की तरह 6 सीट्स ही मिलती है। तो क्या 7 सीटर अर्टिगा की बजाये, नेक्सा डीलरशिप्स के माध्यम से बिकने वाली यह 6 सीटर एमपीवी आपके लिए परफेक्ट चॉइस साबित हो सकती है? चलिए जानें:-

 

एक्सटीरियर (Exterior)

 

पहली नज़र में आपको मारुति एक्सएल6, अर्टिगा का स्पोर्टी वर्ज़न लग सकती है। अर्टिगा की तुलना में एक्सएल6 की फ्रंट डिज़ाइन काफी अलग और आकर्षक लगती है। इसमें अर्टिगा वाली क्रोम ग्रिल के उलट हैक्सागोनल  ब्लैक ग्रिल मिलती है जिसके सेंटर में एक क्रोम स्लेट मिलती है जो कार के हेडलैम्प्स में इंटीग्रेटेड डे-टाइम रनिंग लैम्प्स (डीआरएल) को कनेक्ट करती हुई प्रतीत होती है।

अर्टिगा की तुलना में इसके हेडलैम्प्स का साइज ज्यादा बड़ा है। अर्टिगा वाले राउंड चैम्बर हेडलैंप डिज़ाइन से भिन्न, एक्सएल6 में रेक्टेंगल क्वाड चैम्बर एलईडी हेडलैम्प्स मिलते हैं जो कार की फ्रंट डिज़ाइन में चार चाँद लगते हैं।

 

मारुति ने कार को रगड़ लुक देने के लिए कार के पूरे निचले हिस्से में ब्लैक क्लैडिंग दी है। इस क्लैडिंग के बीच एक्सएल6 के फ्रंट बम्पर पर मिलने वाली सिल्वर कलर स्किड प्लेट इसे स्पोर्टी फील देती है। हेडलैम्प्स की तरह कार के फॉग लैम्प्स भी एलईडी यूनिट्स के साथ आते हैं।

 

 

साइड से देखने पर, यह अर्टिगा के जैसी ही लगती है। हालांकि, इसके व्हील आर्च और निचले हिस्से पर ब्लैक क्लैडिंग (सिल्वर हाईलाइट के साथ), स्पोर्टी रूफ रेल्स, रिम और ओआरवीएम पर ब्लैक कलर फिनिशिंग मिलती हैं जो इसे अलग पहचान देते है। बहरहाल, इसमें अर्टिगा के समान 185/65 आर15 अलॉय व्हील्स, 180 मिलीमीटर ग्राउंड क्लीयरेंस और 2740 मिलीमीटर का व्हीलबेस मिलता है।

 

 

साइड की तरह कार की रियर प्रोफाइल भी अर्टिगा के जैसी ही है। कंपनी ने कार के रियर बम्पर की डिज़ाइन में जरूर बदलाव किया है और इसमें भी आपको सिल्वर स्किड प्लेट मिलेगी।

कुल मिलकर, मारुति सुजुकी बिना क्रोम का इस्तमाल किए एक्सएल6 को अर्टिगा से ज्यादा प्रीमियम और स्पोर्टी लुक देने में सफल हुई है और इन सब बदलावों के चलते यह अर्टिगा से बेहतर रोड प्रजेंस देने में सक्षम है।

लम्बाई 4445 मिलीमीटर
चौड़ाई 1775 मिलीमीटर
ऊंचाई 1700 मिलीमीटर
व्हीलबेस 2740 मिलीमीटर
ग्राउंड क्लीयरेंस 180 मिलीमीटर
बूट स्पेस (लीटर में) 209 (तीनो रो की सीट्स काम में लेने पर)
550 (3rd रो की सीट्स फोल्ड करने पर)
692 (2nd और 3rd दोनों रो की सीट्स फोल्ड करने पर)
सीटिंग क्षमता 6

 

 

इंटीरियर (Interior)

 

मारुति एक्सएल6 का इंटीरियर अर्टिगा के जैसा ही है। इसके केबिन डिज़ाइन में कंपनी ने कोई बदलाव नहीं किया है। हालांकि, इसे प्रीमियम फील देने के लिए इसमें ब्लैक लैदर अपहोल्स्ट्री, ब्लैक कलर थीम, डैशबोर्ड और डोर पैड्स पर सिल्वर ट्रिम दिए गए हैं। इसके अलावा, इसकी सेकंड रो में आपको बेंच सीट की बजाए दो कैप्टन सीट मिलेगी जो की इस कार की सबसे प्रमुख हाईलाइट है। तो चलिए सबसे पहले इन्हीं की बात करते हैं।

 

 

बेहतरीन पैसेंजर कम्फर्ट के लिए इसके मिडिल रो में मारुति ने दो कैप्टन सीट्स दी है। इनका कम्फर्ट अच्छा है और इनपर 6 फ़ीट या उससे ज्यादा हाइट वाले पैसेंजर को भी अच्छा ख़ासा हेडरूम, लेगरूम और नी-रूम मिलता है। इसके अलावा, इन सीटों को आप अपने कम्फर्ट अनुसार आगे पीछे स्लाइड और रेक्लाइन भी कर सकते हैं। यही नहीं, कम्फर्ट को ओर बढ़ाने के लिए मारुति ने इन दोनों सीटों पर अलग अलग आर्मरेस्ट भी दिया है। साथ ही, इसपर एडजस्टेबल हेडरेस्ट और डोर आर्मरेस्ट भी मिलता है।

इसकी सेकंड रो में रूफ माउंटेड एसी वेंट्स (ब्लोअर कंट्रोल के साथ), 12-वोल्ट का पावर सॉकेट और दोनों डोर्स में बोतल होल्डर भी मिलते हैं।

 

 

अब बात करते हैं इसकी थर्ड रो की। अधिकांश कारों में आपने देखा होगा कि इसकी थर्ड रो में जाने के लिए सेकंड रो की सीट को टम्बल फोल्ड किया जाता है लेकिन एक्सएल6 में इसकी कमी है। ऐसे में पिछली सीटों पर जाने के लिए सेकंड रो की सीट को आगे की ओर रेक्लाइन और फिर स्लाइड करना होगा। इसकी थर्ड रो में दो पैसेंजर्स हेतु सीट्स दी गई है। इनपर एडजस्टेबल हेडरेस्ट भी मिलता है। 6 फ़ीट की ऊंचाई वाले पैसेंजर के लिए भी इसमें पर्याप्त हेडरूम मिलता है और इसमें दो लोग आसानी से बैठ सकते हैं। चूंकि इसकी 2nd रो में स्लाइडिंग सीट्स मिलती है ऐसे में आप 3rd रो में आपके नी-रूम और लेगरूम को एडजस्ट कर सकते हैं। यही नहीं, 3rd रो की इन सीटों में भी आपको रेक्लाइन फंक्शन, साइड आर्मरेस्ट, कप होल्डर, फिक्स साइड ग्लास और 12 वॉल्ट का चार्जिंग सॉकेट मिलता है जो लम्बी दूरी की राइड पर बेहद काम आते हैं। हालांकि, इन सीटों पर शायद कोई लंबी हाइट का एडल्ट बहुत ज्यादा देर बैठ कर सफर नहीं करना चाहेगा।

 

फीचर्स (Features)

 

बात करें एक्सएल6 के मुख्य फीचर्स की तो इसमें अर्टिगा की तरह 7-इंच का टचस्क्रीन स्मार्टप्ले स्टूडियो इंफोटेनमेंट सिस्टम, एप्पल कारप्ले और एंड्रॉयड ऑटो कनेक्टिविटी, वॉइस कंट्रोल, स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो और टेलीफोनी कन्ट्रोल्स, ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल, इंजन स्टार्ट/स्टॉप बटन, फ्लैट बॉटम स्टीयरिंग व्हील, कूल कप होल्डर, फ्रंट सेंटर आर्मरेस्ट (स्लाइडिंग), इलेक्ट्रिकली एडजस्टेबल ओआरवीएम, ऑटो-फोल्डिंग ओआरवीएम, मैनुअल डे/नाईट आईआरवीएम, मैनुअली एडजस्टेबल ड्राइवर सीट हाइट, रूफ माउंटेड रियर एसी वेंट, टिल्ट-रैक एडजस्टेबल स्टीयरिंग, कलर मल्टी-इनफार्मेशन डिस्प्ले (एमआईडी), ड्राइवर साइड वन-टच विंडो, थर्ड-रो में 50:50 में फ्लैट फोल्डेब्ल सीट्स आदि शामिल हैं। इनके अलावा, इसमें आपको क्रूज कंट्रोल, ऑटोमैटिक हेडलैंप और फॉलो-मी-होम फंक्शन जैसे प्रीमियम फीचर्स भी मिलेंगे जिनका अर्टिगा में अभाव है।

 

 

सुरक्षा के लिहाज़ से इसमें सभी वैरिएंट्स में आपको ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स, एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) के साथ इलेक्ट्रोनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रीब्यूशन (ईबीडी), रियर पार्किंग सेंसर्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम, सीट बेल्ट रिमाइंडर, आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट आदि सेफ्टी फीचर्स भी मिलेंगे। वहीं, इसके टॉप वैरिएंट में आपको रिवर्स कैमरा और ऑटोमैटिक वैरिएंट्स में हिल-होल्ड फंक्शन व इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी प्रोग्राम (ईएसपी) जैसी खूबियां भी मिलेगी।

चूंकि मारुति सुजुकी इसे अपनी प्रीमियम एमपीवी कहती है ऐसे में इसमें साइड और कर्टेन एयरबैग्स, ऑटोमैटिक आईआरवीएम, फ्रंट को-पैसेंजर और रियर सीट्स पर वन-टच विंडो, विंडो स्विच में बैकलाइट, रेन-सेंसिंग वाइपर्स, रियर में यूएसबी सॉकेट और कप होल्डर/ट्रे की कमी खलती है।

 

स्टोरेज स्पेस (Storage Space)

एक्सएल 6 में आपको पर्याप्त मात्रा में स्टोरेज स्पेस मिलते हैं। फ्रंट रो में आपको ग्लव बॉक्स के अलावा, दोंनो डोर्स में बोतल और मैग्ज़ीन होल्डर, सेंटर कंसोल टनल पर आपकी ड्रिंक को ठंडा रखने के लिए कूल्ड कप होल्डर्स, छोटा स्टोरेज स्पेस और आर्मरेस्ट में भी छोटा स्टोरेज स्पेस मिलता है।  वहीं, इसकी 2nd रो में सेंटर कंसोल टनल के एन्ड में छोटा स्टोरेज और दोनों डोर्स पर बोतल होल्डर, फ्रंट सीट्स पॉकेट्स व 3rd रो में दो कप होल्डर्स मिलते हैं।

 

 

बात करें बूट स्पेस की तो, इसमें आपको 209-लीटर का बूट स्पेस मिलता है जो कि बेशक एक फुल फॅमिली ट्रिप के लिए छोटा है। मगर, यदि 3rd रो काम में ना आने पर इसकी एक या दोनों सीटों को फ्लैट फोल्ड कर इसके बूटस्पेस को 550-लीटर तक और 2nd की भी सीटों को फोल्ड कर 692 लीटर तक बढ़ा सकते हैं।

 

इंजन और परफॉर्मेंस (Engine & Performance)

 

एक्सएल6 में मारुति सुजुकी का जाना माना 1.5-लीटर, 4-सिलेंडर, बीएस6 पेट्रोल इंजन, माइल्ड-हाइब्रिड सिस्टम के साथ मिलता है जो अपनी बेहतरीन परफॉर्मेंस और रिफाइनमेंट के लिए जाना जाता है। यही इंजन मारुति सुजुकी सियाज़ में भी दिया गया है। यह इंजन 6000 आरपीएम पर 105बीएचपी की अधिकतम पावर और 4400आरपीएम पर 138न्यूटन-मीटर का अधिकतम टॉर्क जनरेट करता है।  एक्सएल6 में आपको 5-स्पीड मैनुअल और 4-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का ऑप्शन मिलता है।

एक्सएल6 के इस ट्राइड एंड टेस्टेड इंजन की परफॉर्मेंस काफी अच्छी है। मारुति ने कार के एनवीएच पर ख़ासा ध्यान दिया है जिसकी बदौलत केबिन में इंजन नॉइज़ सुनाई नहीं देती है। हालांकि, हल्के फुल्के वाइब्रेशन जरूर मसहूस होते हैं।

 

 

कार का मैनुअल गियरबॉक्स काफी स्मूथ है और सिटी ड्राइविंग में आपको कोई दिक्कत नहीं लगेगी। एक बात जो सिटी ड्राइविंग कंडीशन के हिसाब से काफी अच्छी है कि मारुति ने इसके मैनुअल गियरबॉक्स को इस प्रकार ट्यून किया है जिससे आप टॉप गियर में भी कार को 40-45 किमी/घंटा की स्पीड़ पर बिना इंजन के खड़खड़ाये चला सकते हैं। हालांकि, तेज़ी से स्पीड बढ़ाने के लिए आपको डाउनशिफ्ट करना ही पड़ेगा। हाईवे पर यह 3 डिजिटल की स्पीड पर भी स्टेबल महसूस होती है और इस स्पीडोमीटर रीडिंग पर एक्सएल6 का यह इंजन दिनभर क्रूज कर सकता हैं। क्रूजिंग की बात निकली है तो बता दें कि इसमें क्रूज कंट्रोल फीचर भी मिलता है जो एक स्टेबल स्पीड कायम रखते हुए आपके पैरो को थोड़ा आराम देने की सहूलियत देता है।

 

 

बहरहाल, पैरों के आराम के साथ इसमें बार-बार गियर बदलने की झंझट से परेशानी देने के लिए 4-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का भी ऑप्शन मिलता है। यह काफी स्मूथली स्पीड पिक करता है और आपको इस दौरान झटका भी मसहूस नहीं होगा। लेकिन यह एक 4-स्पीड यूनिट है और मारुति ने इसके गियर रेश्यों में स्पीड रेंज को इस प्रकार बाँटा है कि सिटी स्पीड पर आपको इससे कोई परेशानी नहीं होगी। लेकिन तेज़ी से स्पीड पिक करने (क्विक एक्सेलरेशन) में ये थोड़ा समय लेती है जिससे आपको ओवरटेक करने में थोड़ी समस्या हो सकती है।

ओवरऑल, अपनी अन्य पेट्रोल कारों की तरह एक्सएल6 की इंजन परफॉर्मेंस भी काफी अच्छी है और स्पीड-हाईवे दोनों जगह यह इंजन बखूबी अपना काम करता है।

 

माइलेज (Mileage)

मारुति सुजुकी का दावा है कि यह प्रीमियम एमपीवी मैनुअल गियरबॉक्स के साथ 19.01 किमी/लीटर और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ 17.99 किमी/लीटर का माइलेज देने में सक्षम है। ऑन-रोड यह आपको सिटी में 13-14 किमी/लीटर और हाईवे पर 16-17 किमी/लीटर का माइलेज आराम से दे देगी। हालांकि, जैसा कि हम हमेशा कहते हैं कि माइलेज आपके ड्राइविंग बिहैवियर, कार की हेल्थ और रोड कंडीशन पर भी निर्भर करता है।

 

राइड क्वालिटी (Ride Quality)

मारुति एक्सएल 6 की हैंडलिंग काफी अच्छी है और इसका स्टीयरिंग भी अच्छा फीडबैक देता है। कंपनी का एनवीएच लेवल अच्छा है और इसमें आपको रोड नॉइज़ या इंजन नॉइज़ सुनाई नहीं देती है। हालांकि, हलके-फुल्के वाइब्रेशन जरूर महसूस होते हैं।

 

बात करें सस्पेंशन सिस्टम की तो इसके फ्रंट में आपको कॉइल स्प्रिंग के साथ मैकफरसन स्ट्रट और रियर में कॉइल स्प्रिंग के साथ टॉरशन बीम मिलती है। ये सेटअप छोटे-मोटे गड्डो और ब्रेकर्स को आसानी से पार कर लेते हैं। लेकिन हाई स्पीड पर बड़ा गड्डा या ब्रेकर आता है तो हल्का झटका जरूर महसूस होता है। इसके अलावा, कार में बॉडी रोल भी बेहद ही कम है जिससे टर्निंग या कॉर्नरिंग के दौरान ड्राइविंग कॉन्फिडेंस बना रहता है। हालांकि, इसका टर्निंग रेडियस लगभग 5.2 मीटर है जिससे तंग इलाकों में कार को मोड़ना थोड़ा मुश्किल भरा हो सकता है। लेकिन यह आपकी ड्राइविंग स्किल पर भी निर्भर करता है। साथ ही, मारुति को इसकी ब्रेकिंग परफॉर्मेंस पर और ध्यान देने की जरूरत है।

 

वैरिएंट और प्राइस

बीएस6 मारुति एक्सएल6 वैरिएंट मैनुअल गियरबॉक्स मॉडल ऑटोमैटिक गियरबॉक्स मॉडल
जेटा 9,84,689 रुपये 10,94,689 रुपये
अल्फा 10,41,189 रुपये 11,51,189 रुपये

 

*सभी कीमतें एक्स-शोरूम दिल्ली के अनुसार

जैसा कि टेबल में देख सकते हैं कि एक्सएल6 दो वैरिएंट्स में आती है। इसके बेस वैरिएंट में ऑटो हेडलैंप, ऑटो फोल्डिंग ओआरवीएम (आउटर रियर व्यू मिरर), रिवर्स पार्किंग कैमरा और लैदर अपहोल्स्टरी के अलावा अन्य सभी फीचर्स उपलब्ध है जो हमने ऊपर बताये हैं।

 

खूबियां (Pros)

  • प्रीमियम डिज़ाइन
  • अच्छा केबिन स्पेस और कम्फर्ट
  • इंजन की अच्छी परफॉर्मेंस और बेहतरीन रिफाइनमेंट

 

खामियां (Cons) 

  • सेफ्टी के लिहाज़ से साइड और कर्टेन एयरबैग की कमी
  • प्रीमियम कार होने के नाते काफी फीचर्स का अभाव
  • डीजल इंजन का ऑप्शन उपलब्ध नहीं
  • ख़राब ब्रेकिंग परफॉर्मेंस

 

निष्कर्ष (Conclusion)

मारुति सुजुकी एक्सएल 6 की डिज़ाइन अर्टिगा से बेहतर और प्रीमियम है। इसमे अर्टिगा से ज्यादा फीचर्स और बेहतर कम्फर्ट के लिए मिडिल रो में कैप्टन सीटें भी मिलती है। इसकी ओवरॉल परफॉर्मेंस भी सराहनीय है। लेकिन इस नेक्सा कार की प्राइस अर्टिगा के मैनुअल टॉप वैरिएंट से लगभग 70,000 रुपये और ऑटोमैटिक टॉप वैरिएंट लगभग 1.2 लाख रुपये ज्यादा है। और इस प्राइसिंग में इस अंतर की तुलना में इसमें उतने अधिक फीचर्स नहीं मिलते जो शायद आप एक प्रीमियम कार से उम्मीद रखेंगे।

बहरहाल, आपके मारुति एक्सएल6 के बारे में क्या विचार हैं? हमे कमेंट सेक्शन में जरूर लिखें। साथ ही, यदि आपके इससे जुड़े कोई सवाल हैं तो वो भी आप हमसे पूछ सकतें हैं।

Previous Review Next Review
मारुति सुजुकी एस-प्रेसो: रिव्यू जाने कैसी हैं टाटा अल्ट्रोज: रिव्यू